Chyawanprash Uses Benefits And Side Effects In Hindi

By | September 13, 2018

Chyawanprash Uses Benefits And Side Effects In Hindi

Chyawanprash अमला एबंग बिभिन प्रकार के जड़ी बूटी से बनाया गया है जो की  जाम तरह दीखता है .सर्दिया में लोग  Chyawanprash का इस्तेमाल करते हैं कियुनकी यह बॉडी को गरम रखता है .साथ में सेहत को कोई तरह की फायदा पहुंचाता है .Chyawanprash का नियमित सेवन से महिला and पुरुष दोनों को फायदा मिलता है .Chyawanprash का स्वाद मीठा खोटा साथ ही हलका मसलदार होता है .इसका डिमांड मार्किट में बहुत है इ आज हम इसके बारे में पूरी जानकारी आपको बतायेंगे जैसे benefits साइड इफेक्ट्स uses के  में तो चलिए शुरू करते हैं .

आज के टाइम पे मार्किट में आपको कोई डिफरेंट कंपनी में आपको मिलजायेगा जैसे पतंजलि से लेकर हिमालया, झंड़ु और डाबर आदि ब्रांडों के च्यवनप्राश उपलब्ध हैं .इसमें अमला अस्वगंधा पिपली सफ़ेद चन्दन पाउडर पिपली दालचीनी   तुलसी  सेहद और बहुत सारा जड़ी बूटी मिलाकर इसको बनाया गया है .

How To use Chyawanprash – Chyawanprash  को use कैसे करना है

Chyawanprash को use करने की मात्रा बिय्क्ति के अनुसार भिन्न भिन्न होती है .इसको लम्बे समय तक use करने से आपका immunity power में सुधार आता है .

Chyawanprash बनाने बाली कुछ कंपनी इसे दूध के साथ लेने की सलाह देती है .Chyawanprash  को सुबहे खाली पेट में गुन गुने पानी के साथ ले सकते हैं .

गर्बबती महिला को सुभे and साम को गुन गुने पानी के साथ लेना चाहिए .

एक से पांच बर्ष उम्र के बचों को 1/2 चमोच देना चाहिए .

6-11 साल के ऊपर के बचो को 1 teaspoon देना चाहिए .

12 साल के ऊपर के बचों को 4 teaspoon दे सकते हैं .

लिकिन किसी भी परिस्तिती में 20 gm से ऊपर देना नही चाहिए .

Benefits of Chyawanprash – Chyawanprash  के फायदे

इसका बहुत सारा benefits है चलिए देखते हैं .

Chyawanprash Seasonal Infections protection in Hindi-आपको मसोम इन्फेक्शन में फायदे देता है

सर्दिय सुरु होते ही मसोम में नमी बढ़ जाती है और लगातार मसोम परिबर्तन होता रहेता है .और इसके कारण बहुत लोग सक्रमण के चपेट में आजाते हैं .इसके कारन लोगो को बुखार सर्दी जुखाम होजाता है लिकिन यदि आप लगातार तोर पर Chyawanprash लेते हैं तो आपको यह disease होने की chances कम होजाता है कियुनकी आपका immunity strong होजाता है .

Chyawanprash improve Digestive System in Hindi – यह आपका पाचन क्रिया को सुधाराता है

Chyawanprash में दालचीनी and अमला की मिश्रण किया गया है जो की आपका पाचन क्रिया को सुधाराता है और जिन लोगो का भूक न लगने की problem है वोह लोगो यदि इसका इस्तेमाल नियमित तोर पर करते हैं तो उनका पाचन क्रिया में सुधर आता है and भूक लगता है .

Chyawanprash Purifying Blood in Hindi – यह ब्लड purifier के रूप में भी काम करता है

ऐसे लोग जो काम के दबाब में रहेते हैं और ठीक से खान पान पर ध्यान नही देते हैं और और थी से सो भी नही पाते हैं इन्ह लोगो का बहुत सारा बिसाक्त बॉडी  में भरपूर होजाता है जो की बॉडी को बीमारी के चपेट में ले आता है इसीलिए यदि आप इसका रेगुलर सेवन करते हैं तो आपका बॉडी यह detoxify करके आपका बॉडी को ठीक करता है जिसके कारन आपको रोग होने की chances कम होजाते हैं .

Chyawanprash increase sexual power- यह sexual power को बढाता है

इसमें जो सारे ingredients मिलाया गया है वोह सारे आपका sexual problem को ठीक करने में मदत करता है .यह दोनों पुरुष and महिला केलिए काफी फायदे मंत है sexual disease केलिए .

memory power increase by Chyawanprash- यह आपका memory power को बढाता है

यदि आप रेगुलर तोर पर लेते हैं तो आपका memory power में increase होने की chances होते हैं .

Energy booster Chyawanprash

यह एनर्जी booster के तर पर भी काम करता है जो लोग 1 घंटा काम करके थक जाते हैं उन्ह लोगो केलिए यह बहुत ही फायदे मंत होता है इन्हें दिन भर उर्जा देता है ताकि यह लगातार काम कर सकें .

Side Effects Of Chyawanprash

इसका सेवन से कोई भी प्रकार की साइड इफेक्ट्स नही होती है कियुनकी इसमें मिलाये गए सभी ingredients natural होते हैं .लिकिन आपको कुछ साबधानी बरतने की जरुरत होती हैं जैसे –

यदि आपको अलसर है तो आप इसका सेवन न करें .

dairia जिन्ह लोगो को हुआ है उन्ह लोगो को यह नही देना चाहिए .

यदि आप डायबिटीज, विटामिन सी मेटाबोलिक डिसऑर्डर  से पीड़ित है तो इसका सेवन न करें .

Conclusion

तो दोस्तों मेरा कहेना यह है की आप इसका सेवन कर सकते हैं इसमें कुछ भी साइड इफेक्ट्स नही है लिकिन कुछ सब्धानी बरतने की जरुरत है जैसे मेने आपको बताया है .और इसे आप रोज लीजिये आप इससे बहुत सारा फायदा पा सकते हैं .

apricot

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *