पेसाब में धात गिरने की बझा पूरी जानकारी -Discharge problem in males in hindi

By | May 18, 2019

पेसाब में धात गिरने की बझा पूरी जानकारी -Discharge problem in males in hindi

 

पेसाब में धात गिरना एक आम बात हो गयी है ,आज के युवाओं में यह एक आम प्रॉब्लम हो गयी है .जिसे ठीक क्या जा सकता है लिकिन उसकेलिए एक सठिक नियम का पालन करना जरुरी है .इसीलिए आज हम इसीके ऊपर बात करेंगे .

आखिर यह धात रोग होता कियूं है –

यदि आपको नस की कमजोरी है तो आपकोयह रोग होसकता है .

कब्ज भी बड़ी समस्या है जिसके कारन यह धात रोग होता है .मतलब आपको पेट साफ रखना बहुत जरुरी है .यदि आपका पेट साफ़ नही होरहा है तो अमला चूर्ण या त्रिफला चूर्ण ले सकते हैं .

ज्यादा ऑयली फ़ूड को नही खाना चाहिए .दूध जब भी आप पी रहें हैं , तब उसे ठंडा करके पीना चाहिये .

कॉफ़ी एंड चाय नही पीना चाहिए .

आजके टाइम पे धात रोग केलिए मॉडर्न साइंस में किसी भी तरह की इलाज नही है .लिकिन यह आयुर्वेदिक में है इसका इलाज .

 

एक लड़का का वेट कम हो रहा था तो इसीलिए डॉक्टर के पास जाकर जानकारी इकठा करी तो पता चला की पेसब में धात जाता है .उसने काफी टाइम मेडिसिन USE करी उसके बाद भी उसे आराम नही आया .तो उसने आयुर्वेदिक डॉक्टर के पास आया .तो आयुर्वेदिक डॉक्टर ने उसे कुछ मेडिसिन दिए जिसके बजहस से उसका धात रोग ठीक होगया .

तो चलिए जानते हैं वोह मेडिसिन क्या क्या थी –

सुभे उठकर खाली पेट में GAAJVAN ARK   एक चोथाई और PUNARNAVA ARK   एक चोथाई दोनों को ह में मिलाकर सुभे साम खली पेट में लिया .

खाना खाने के बाद CHANDRAKALA RAS  एक गोली उसके  साथ तीन चामच USHIRASAV AND  तीन चामच KUMARAYASAVA इसमें 6 चामच पानी  मिलाकर खाना खाने के 30 MINTUE बाद लेना चाहिए .

और एक मेडिसिन थी जिसका नाम है MOTIPISHTI यह एक कैल्शियम है .इसे भी साम के एक बजे 1 ग्राम  के एक चौथा हिसा रोज लेना होता है .

और डॉक्टर ने कहा था हर दिन बदल बदल कर खाना कहना केलिए .और साथ में एक लीवर टॉनिक भी लेने केलिए बोला था .Unjha Livbond Syrup (200ml) को डेली लेने केलिए .

16 दिन के बाद उसका रिजल्ट आना शुरू होगया .और उसका वेट भी बढ़ने लगा .

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *